Followers

Wednesday, November 6, 2013

एशेज की कहानी

चित्र साभार : www.theguardian.com 
आप सबने इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच होने वाली प्रसिद्ध टेस्ट श्रृंखला एशेज का नाम सुना भी होगा और उसके मैच भी देखे होंगें लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच ये टेस्ट श्रृंखला क्यों आयोजित होती है ? नहीं ना !! इसके पीछे है एक रोचक कहानी, क्या है वो रोचक कहानी पढ़े यहाँ पर -

सन 1877 ई. में टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत के 1882 ई. में आस्ट्रेलिया की टीम ने एक टेस्ट मैच खेलने के इंग्लैंड का दौरा किया। ओवल में हुए इस रोमांचक टेस्ट मैच में इंग्लैंड को जीतने के लिए चौथी पारी में केवल 85 रन बनाने थे। इंग्लैंड की टीम ने 7 विकेट खोकर 75 रन बना लिए, लेकिन अंतिम 3 खिलाड़ी मात्र 2 रन जोड़कर आउट हो गए। आस्ट्रेलिया ने ये मैच 7 रन से जीत लिया।  इंग्लैंड की टीम की हार से इंग्लैंड के समर्थक इतने नाराज़ हुए कि इंग्लैंड के एक अखबार में इंग्लैंड क्रिकेट की मौत पर शोक सन्देश तक लिख दिया गया कि

आस्ट्रेलिया की टीम इंग्लिश क्रिकेट को दफनाकर उसके अवशेष अपने साथ आस्ट्रेलिया  ले गई। 

दरअसल हुआ ये था कि कुछ क्रिकेट प्रशंसक महिलाओं ने इस टेस्ट मैच में प्रयोग की गई बेल्स (गिल्ली) को जलाकर उसकी राख (एशेज) को एक डिब्बी में रखकर आस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान को भेंट कर दिया था। 

तब से लेकर आज तक इस राख (एशेज) को हासिल करने के नाम पर आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच "एशेज" नाम से टेस्ट श्रृंखला (सीरीज) का आयोजन होता है। 

18 comments:

  1. Replies
    1. धन्यवाद भईया।।

      Delete
  2. वाह यह पहली बार पता चला

    ReplyDelete
  3. Replies
    1. सहर्ष धन्यवाद सर जी।।

      Delete
  4. वाह वाह
    बहुत सुन्दर जानकारी.
    यह पहली बार पता चला

    ReplyDelete
    Replies
    1. सहर्ष धन्यवाद।।

      Delete
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (09-11-2013) "गंगे" चर्चामंच : चर्चा अंक - 1421” पर होगी.
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है.
    सादर...!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हार्दिक धन्यवाद सर जी।।

      Delete
  6. बहुत बढ़िया जानकारी , हर्षवर्धन भाई
    नया प्रकाशन --: जानिये क्या है "बमिताल"?

    ReplyDelete
  7. सन 1877 ई. में टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत के 1882 ई. में आस्ट्रेलिया की टीम ने एक टेस्ट मैच खेलने के इंग्लैंड का दौरा किया। ओवल में हुए इस रोमांचक टेस्ट मैच में इंग्लैंड को जीतने के लिए चौथी पारी में केवल 85 रन बनाने थे। इंग्लैंड की टीम ने 7 विकेट खोकर 75 रन बना लिए, लेकिन अंतिम 3 खिलाड़ी मात्र 2 रन जोड़कर आउट हो गए। आस्ट्रेलिया ने ये मैच 7 रन से जीत लिया। इंग्लैंड की टीम की हार से इंग्लैंड के समर्थक इतने नाराज़ हुए कि इंग्लैंड के एक अखबार में इंग्लैंड क्रिकेट की मौत पर शोक सन्देश तक लिख दिया गया कि

    आस्ट्रेलिया की टीम इंग्लिश क्रिकेट को दफनाकर उसके अवशेष अपने साथ आस्ट्रेलिया ले गई।

    दरअसल हुआ ये था कि कुछ क्रिकेट प्रशंसक महिलाओं ने इस टेस्ट मैच में प्रयोग की गई बेल्स (गिल्ली) को जलाकर उसकी राख (एशेज) को एक डिब्बी में रखकर आस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान को भेंट कर दिया था।

    तब से लेकर आज तक इस राख (एशेज) को हासिल करने के नाम पर आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच "एशेज" नाम से टेस्ट श्रृंखला (सीरीज) का आयोजन होता है।

    रोचक दिलचस्प।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सर जी।।

      Delete

आपकी अमूल्य टिप्पणी के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद।
प्रचार के लेख पसंद आने पर कृपया प्रचार ब्लॉग के समर्थक (Follower) बने। धन्यवाद। सादर।।